राष्ट्रीय | अंतरराष्ट्रीय | प्रादेशिक | यूथ मीटर | जनगणना 2011 | मप्र-छग | कैंपस बज़ | मिस्र में जन आंदोलन | युवा | नक्सलवाद | स्वाइन फ्लू | बीजेपी अधिवेशन | विकीलीक्स | अयोध्या
मुख पृष्ठ » खबर-संसार » समाचार » अंतरराष्ट्रीय » सेक्स का असली मजा 40 के बाद
WD
FILE
इस बात पर कई बार विशेषज्ञों में बहस हुई है कि आखिर महिलाओं को उम्र के कौन से पड़ाव पर सेक्स का भरपूर आनंद आता है। इसी मुद्दे पर हाल ही में लंदन में एक शोध पूरा हुआ, जिसके नतीजे में कहा गया कि युवावस्था के बजाय चालीस वर्ष की उम्र के बाद महिलाएं सेक्स का भरपूर आनंद लेती हैं या इसे यूं कह लीजिए कि किसी किशोरी की अपेक्षा 40 से 50 साल की उम्र की महिला को सेक्स करने में ज्यादा आनंद मिलता है

अध्ययन में कहा गया है कि 40 से 50 साल की उम्र में महिलाएं सेक्स के 'चरम आनंद' की अनुभूति कर पाती हैं, जो मनोवैज्ञानिक कारणों से युवावस्था में प्राप्त नहीं हो पाता। इस शोध में बताया गया कि 40 के बाद महिलाएं स्वास्थ्य की दृष्टि से अपनी आदर्श स्थिति में होती हैं और इस दौरान वे सेक्स का मनचाहे अंदाज में मजा लेती हैं। इसके अलावा इस उम्र में महिलाओं की सेक्स के प्रति रूचि बढ़ जाती है और वे युवावस्था की अपेक्षा इस उम्र में ज्यादा सेक्स करती हैं। इस दौरान वे शर्माती नहीं और अपने पार्टनर के साथ सेक्स में नए आसनों का प्रयोग करती हैं।

शोध में प्रस्तुत आंकड़ों में बताया गया कि 18 से 30 वर्ष की उम्र की 54 प्रतिशत महिलाएं अपनी शारीरिक और मनोवैज्ञानिक समस्याओं के कारण सेक्स के चरम आनंद तक नहीं पहुंच पातीं, जबकि 31 से 45 वर्ष की महिलाओं में यह समस्या केवल 43 प्रतिशत महिलाओं में पाई गई। 31 से 45 वर्ष की लगलभग 87 प्रतिशत महिलाओं का कहना था कि वे उम्र के इस पड़ाव पर सेक्स का सबसे ज्यादा मजा ले रही हैं। जबकि 18 से 30 साल की उमर की 85 प्रतिशत महिलाएं ये दावा कर पाईं कि वे सेक्स के चरम बिंदु तक पहुंच रही हैं।

अमेरिकी वैज्ञानिकों ने यह शोध अगल अलग उम्र की 600 महिलाओं पर किया और सेक्स के बारे में उनके पूर्व और वर्तमान अनुभवों को अपने शोध का आधार बनाया। (एजेंसियां)
संबंधित जानकारी